BREAKING NEWS
featured

भक्तों पर आशीर्वाद के फुहारे बरसाते विदा हुए गणेश , उल्हासनगर में सोमवार को मिले कोरोना के १४ मरीज


- डेढ़ दिन के बप्पा का रिमझिम बारिश में हुआ विसर्जन

- कोरोना के साये में हो रहा गणेशोत्सव  

उल्हासनगर. (संतोष झा)। ‘गणपति बप्पा मोरया, पुढच्या वर्षी लवकर या’ इस जयघोष के बीच रविवार को भक्तों ने डेढ़ दिन के बप्पा को विदा किया। विसर्जन से पहले हुई आरती में भक्तों ने अपने बप्पा से कोरोना संकट को दूर करने की प्रार्थना की। कोरोना पार्श्वभूमि पर भक्तों ने बने नियमों का पालन करते हुए अपने बप्पा को विदा किया। गौरतलब हो कि गणेशोत्सव का ये त्योहार महाराष्ट्र खासकर मुंबई एवं इससे सटे उपनगरों में बेहद धूमधाम से मनाया जाता है. लेकिन इस साल कोरोना महामारी के चलते बड़े ही सादगी के साथ गणपति उत्सव मनाया जा रहा है. गणपति का अपने घर में 10 दिनों तक यथाशक्ति सत्कार, सेवा और पूजा के बीच डेढ़ दिन के गणपति का विसर्जन रविवार को किया गया. दरअसल कई लोग जो घरों में गणेश जी की मूर्ति लाकर पूजा करते हैं वे गणेश चतुर्थी के अगले दिन भी गणेश विसर्जन करते हैं, जिसे डेढ़ दिन के गणपति का विसर्जन कहा जाता है. लेकिन अनंत चतुर्दशी के दिन गणपति विजर्सन की परंपरा सबसे ज्यादा प्रचलित है. गणेश चतुर्थी के 10 दिन बाद यानी कि 11वें दिन अनंत चतुर्दशी का त्योहार होता है और इस दिन धूमधाम से गणपति विसर्जन किया जाता है. हिंदू पंचांग के मुतबिक अनंत चतुर्दशी हर साल भादो माह शुक्ल पक्ष की चौदस यानी कि 14वें दिन मनाई जाती है. गणेश चतुर्थी के 10 दिन बाद 11वें दिन अनंत चतुर्दशी आती है और इसी दिन विधि-विधान से गणेश विसर्जन किया जाता है. रविवार को डेढ़ दिन के बप्पा को भक्तों ने नियमों का पालन करते हुए विसर्जित किया। गणेश मूर्ति विसर्जन के लिए मनपा ने प्रभाग स्तर पर १२ संकलन केंद्र की व्यवस्था की है। इस व्यवस्था के आधार पर ही मनपा ने बप्पा की मूर्ति विसर्जित करने की अपील गणेशभक्तों से की थी। मनपा की इस अपील को प्रतिसाद देते हुए भक्तगणों ने कल डेढ़ दिन के बप्पा की विदाई की। मनपा के पीआरओ डॉक्टर युवराज भदाने ने बताया कि रविवार रात तक उल्हासनगर में मनपा के चारों प्रभाग में बने १२ संकलन केंद्रों पर कुल ६०५ गणेश मूर्तियां विसर्जित की गई. उल्हासनगर के पुलिस उपायुक्त प्रमोद शेवाले के नेतृत्व में शहर के प्रमुख स्थलों, चौराहों और विसर्जन घाट सहित अन्य स्थानों पर पुलिस का कड़ा बंदोबस्त रहा।

- मनपा आयुक्त ने लिया गणेशमुर्ती संकलन केंद्रों का जायज़ा

उल्हासनगर मनपा के पीआरओ डॉक्टर युवराज भदाने ने बताया कि उल्हासनगर में इस बार गणेश मूर्तियों का विसर्जन नदी, खाड़ी, तालाब या कृत्रिम तालाबों में नहीं होगा। अपने घरों, इमारतों, सोसायटी के प्रांगण में कृत्रिम तालाब बनाकर आपको गणेशमूर्तियों को विसर्जित करना होगा। जिन लोगों का या गणपति मंडलों को घरों, सोसायटी या इमारतों के विसर्जन करना सम्भव नहीं उनके लिये उल्हासनगर मनपा द्वारा सुविधा दी गयी है कि, प्रभाग निहाय दी हुई सूचि नुसार संकलन केंद्र बनाये गये है. गणेशमूर्तियों का संकलन उमनपा द्वारा किया जा रहा है. अपने घरों मंडपों में ही पुजा आरती करके संकलन केंद्रों में गणेशमूर्तियों को लाना है. किसी भी तरह से ढोल ताशे भजन कीर्तन, पटाखे और बैंड ना बजाते हुये मात्र 2 ही भाविक गणेशमूर्तियों को मास्क, सेनिटाइजर इस्तेमाल करते हुये फिजिकल डिस्टन्स का पालन करते हुये संकलन केंद्र तक लायेंगे। संकलन की गई गणेशमूर्तियों का विसर्जन उल्हासनगर मनपा द्वारा किया जायेगा। उक्त संकलन केंद्रों में किस तरह से सुचारू कार्य चल रहा है, यह देखने के लिये रविवार को उल्हासनगर मनपा आयुक्त डॉ.राजा दयानिधि द्वारा गणेशमुर्ती संकलन केंद्रों का जायज़ा लिया।

- बेहतरीन काम कर रहे हैं आयुक्त- किशोर वनवारी 

रविवार शाम को मनपा आयुक्त डॉक्टर राजा दयानिधि कैंप ५, कैलाश कॉलोनी में बने संकलन केंद्र और कृत्रिम तालाब पर पहुंचे जहां उन्होंने काफी देर तक स्थिति का जायजा लिया. उनके साथ मनपा के विरोधी पक्ष नेता किशोर वनवारी भी थे. श्री वनवारी ने दैनिक धनुषधारी को बताया कि मनपा आयुक्त कोरोना पार्श्वभूमि पर गणेश विसर्जन के लिए भक्तों की सुविधा हेतु और कोरोना संक्रमण ना फैले इसके लिए गणेश मूर्ति का जो संकलन केंद्र बनवाया है वो कबीले तारीफ है. काफी बेहतरीन व्यवस्था उन्होंने करवाया है. वे खुद दिनभर उन संकलन केंद्रों का निरीक्षण करते हैं. उन्होंने कहा कि जब से वे आयुक्त के रूप में यहां आये हैं कोरोना पर नियंत्रण पाने में काफी हद तक सफलता पाई है.

- इन १२ स्थानों पर कृत्रिम विसर्जन सेंटर

मनपा के पीआरओ डॉक्टर युवराज भदाने ने बताया कि मनपा प्रशासन ने चार प्रभाग समितियों के अंतर्गत 12 संकलन केंद्र (कृत्रिम विसर्जन सेंटर) बनाए हैं। गणेश भक्त अपने घरों के पास प्रभाग समिति में अपनी मूर्तियों का विसर्जन करें। प्रभाग समिति-1 में साधुबेला स्कूल के पास, गोल मैदान प्रभाग समिति कार्यालय के पास, मनपा स्कूल नं. 17 के पास, प्रभाग समिति-2 एसईएस स्कूल, खेमानी में, बोट क्लब, हिराघाट में, सपना गार्डन के पास, प्रभाग समिति-3 में वीटीसी ग्रांऊड में, गुलराज टॉवर के पास ओटी सेक्शन, वीनस चौक के पास तथा प्रभाग समिति 4 में प्रभाग समिति कार्यालय नेताजी चौक पर, दशहरा मैदान पर तथा कैंप ५ स्थित कैलाश कॉलोनी में कृत्रिम तालाब बनाए गए हैं जहां पर गणेश मूर्तियों का विसर्जन होगा।




उल्हासनगर में कोरोना अब काबू में, मिले १४ पॉजिटिव केस, रिकवरी रेट ९३.२४ प्रतिशत    

आंकड़ा ७५९९, अबतक स्वस्थ हुए ७०८६ मरीज, एक्टिव मरीज ३३० 

मनपा आयुक्त डॉक्टर राजा दयानिधि को मिल रही कामयाबी   

उल्हासनगर। उल्हासनगर में सोमवार को कोरोना के १४ नए मामले आने के बाद अब लगने लगा है कि मनपा प्रशासन यहाँ कोरोना को काबू में कर रही है. दरअसल मई, जून और जुलाई महीने में कोरोना ने खूब तांडव मचाया था लेकिन जबसे मनपा आयुक्त डॉक्टर राजा दयानिधि ने यहाँ आयुक्त का पदभार संभाला है तब से वे कोरोना को काबू में करने के लिए हरसंभव उपाय योजना कर रहे हैं. परिणामस्वरूप अब कोरोना के आंकड़े बताते हैं कि यहां कोरोना नियंत्रण में आ रहा है. लेकिन अभी भी लोगों को पूरी सावधानी बरतने की जरुरत है और प्रशासन द्वारा जारी दिशा निर्देशों का सख्ती से पालन करना है. इस बीच मनपा के सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार बीते २४ घंटे के दौरान १४ नए मरीज मिले हैं. जबकि रविवार को १९, शनिवार को ३०, शुक्रवार को ३५ और गुरुवार को ३४ मरीज मिले थे. इस प्रकार उल्हासनगर में अब तक कुल ७५९९ लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं. जिसमें बीते २४ घंटे के अंदर ७ मरीज कोरोना को मात देकर अपने घर जा चुके हैं और उपचार के पश्चात घर वापस लौटने वालों की कुल संख्या ७०८६ तक पहुंच गई है. इस प्रकार अभी ३३० एक्टिव मरीजों का विभिन्न अस्पतालों में उपचार चल रहा है. इस प्रकार रिकवरी रेट ९३.२४ प्रतिशत तक पहुंच चुका है. जबकि बीते २४ घंटे में ४ मरीजों की मौत के बाद कोरोना के चलते अबतक २१३ लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. सोमवार को जो १४ नए मरीज मिले हैं उनका विवरण इस प्रकार है- कैंप एक से मिले कुल १ मरीज, कैंप तीन से मिले कुल ३ मरीज तथा कैंप चार से मिले कुल ५ तथा कैंप ५ से मिले कुल ५ मरीज.

Shop Now



« PREV
NEXT »

कोई टिप्पणी नहीं

Facebook Comments APPID