BREAKING NEWS
featured

तीन महिने पहले कोरोना मरीजों की जो संख्या डरा रही थी वही अब सुकून दे रही है




उल्हासनगर (नि.सं.)। ‘तीन महिने पहले तक जो कोरोना मरीजों की संख्या लोगों को डरा रही थी, वही संख्या तीन माह बाद लोगों के लिए बड़ी राहत लेकर आयी है।’ आपको सुनने में यह थोड़ा अजिब जरूर लगेगा परन्तु बात 16 आने सच है।
पाठकों को बताते चलें कि उल्हासनगर में अप्रैल तक कोरोना के मामले न के बराबर थे, लोगों का संयम, मनपा प्रशासन की सख्ती और कोरोना मरीजों के इलाज के लिए पुरी तरह मुस्तैद मेडिकल स्टॉफ के कारण यह संभव हो पाया. तत्कालिन मनपा आयुक्त सुधाकर देशमुख ने उल्हासनगर के आसपास के शहरों में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते उल्हासनगर शहर की सीमाओं को सील कर दिया था, जिससे अप्रैल महिने तक उल्हासनगर कोरोना से काफी हद तक महफूज रहा, परन्तु कोरोना से दो अलग-अलग लोगों की मौत के बाद शवों से कोरोना जो एक बार फैलना शुरू हुआ तब से यह महामारी अनियंत्रित हो गयी और हजारों की संख्या में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या पहुंच गयी, जबकि करीबन 161 लोगों ने कोरोना से अपनी जान गंवा दी।
उल्हासनगर मनपा प्रशासन की सख्ती और वर्तमान आयुक्त डॉ. राजा दयानिधी के सख्त प्रयासों से उल्हासनगर ने करीबन तीन माह कोरोना से जुझने के बाद इस महामारी पर काबू पाने में उल्हासनगर सफल हो रहा है। आज से तीन माह पहले यानी 10 मई को कोरोना के 19 मामले दर्ज हो चुके थे, जिससे शहरवासी काफी दहशत में थे और तब से यह संख्या बढ़ती ही चली गयी, परन्तु 10 मई के ठीक तीन माह और दो दिन बाद 11 अगस्त, 2020 कृष्ण जन्माष्टमी के पावन पर्व पर कोरोना मरीजों की संख्या घटकर 19 दर्ज की गयी है और मंगलवार को कोरोना के नये 19 मरीजों की संख्या लोगों के लिए राहत की खबर है, क्योंकि उल्हासनगर में कोरोना तेजी से कम हो रहे हैं इतना ही नहीं स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या में भी बढ़ोतरी हो रही है , मंगलवार को ९४ मरीज उपचार के बाद  स्वस्थ होकर अपने घर लौटे ऐसे में अब तक स्वस्थ हुए मरीजो की संख्या ६६४१ पर जा पहुंची है। एक्टीव मरीज की संख्या लगातार कम हो रही है , आज उल्हासनगर में केवल ३८३ एक्टिव मरीज ।

Covid 19 Press Note
« PREV
NEXT »

1 टिप्पणी

Facebook Comments APPID