BREAKING NEWS
featured

स्वच्छता में अंबरनाथ राज्य में तीसरे स्थान पर वही देश में 18 वें स्थान पर , साथ ही अंबरनाथ बदलापुर शहर की कोरोना अपडेट



(रिपोर्टर - संजय राजगुरु)


अंबरनाथ : स्वच्छता के मामले में अंबरनाथ शहर को सबसे आगे रखने के लिए, नगरपालिका प्रशासन द्वारा आज तक कई उपाय लागू किए जा रहे हैं। हाल ही में स्वच्छ सर्वेक्षण अभियान, कचरा निपटान, धनगाड़ी योजना, शहर में कचरे के रूपांतरण, भूमिगत सीवरेज योजनाओं, सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांटों और नागरिक भागीदारी के लिए परियोजनाओं की वजह से अंबरनाथ को देश में 18 वां स्थान मिला है।
पिछले साल के स्वच्छ सर्वेक्षण अभियान में, अंबरनाथ 30 वें स्थान पर था। तब से, एक ही वर्ष में, शहर में किये गए  अनुशासनात्मक उपायों के कारण देश में 18 वां और राज्य में तीसरा स्थान दिया गया है।
पूरे शहर में नगर पालिका प्रशासन द्वारा घण्टा गाडी दारोगाड़ी लागू की जा रही है। नतीजतन, शहर में खुले कचरे की मात्रा गायब हो गई है। नगरपालिका के सभी सफाईकर्मियों, महिला स्व-सहायता समूह की महिलाओं ने भी इस योजना में एक प्रमुख भूमिका निभाई है। नागरिकों में जागरूकता पैदा की गई है क्योंकि दो महिलाएं प्रत्येक गाड़ी के पीछे विभाग में जाती हैं और नागरिकों को गीले कचरे और सूखे कचरे के बारे में मार्गदर्शन करती हैं। इसी समय, शहर के मुख्य वर्गों, बाजारों और मुख्य सड़कों में स्वच्छता को उच्च प्राथमिकता दी गई थी। आज तक, शहर में प्रति परिवार 15,000 रुपये की लागत से नगरपालिका प्रशासन द्वारा कुल 4,200 निजी शौचालय बनाए गए हैं। इसी समय, शहर में विभिन्न स्थानों पर सार्वजनिक शौचालयों का नवीनीकरण किया गया है और बिजली स्प्रे मशीनों द्वारा साफ किया जा रहा है। शहर में कहीं भी सीवेज की समस्या नहीं है क्योंकि शहर से बाहर आने वाले सभी सीवेज और मलमूत्र को भूमिगत सीवर में छोड़ दिया जाता है। शहर के एक प्रमुख स्वच्छता दूत और नागरिकों के बीच स्वच्छता के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए पूरे शहर में कुल 80 स्वच्छता दूत काम कर रहे हैं।
वर्तमान में निगम द्वारा संचालित शहर में 8 उर्वरक परियोजनाएं हैं और अब तक लगभग 8 से 10 टन उर्वरक का उत्पादन किया गया है।
साथ ही जिस तरह से नगरपालिका प्रशासन शहर को साफ रखने के लिए विभिन्न उपायों को लागू कर रहा है, उसमें शहर के नागरिकों का भी महत्वपूर्ण योगदान रहा है। शहर के स्कूलों ने, अपने छात्रों की मदद से, पूरे शहर में कई गतिविधियों को अंजाम दिया, जिसमें स्वच्छता के महत्व पर जोर दिया गया। छात्रों ने स्वच्छता पर आधारित नुक्कड़ नाटक, निबंध प्रतियोगिता, वक्तृत्व प्रतियोगिता, चित्रकला प्रतियोगिता जैसी कई गतिविधियाँ आयोजित कीं।
पूर्व नगराध्यक्ष श्रीमती मनीषा वाललेकर, पूर्व उप नगराध्यक्ष अब्दुल शेख, पूर्व मुख्य अधिकारी देवीदास पवार, स्वास्थ्य अधिकारी सुरेश पाटिल और शहर के सभी पूर्व पार्षदों और सभी नागरिकों द्वारा की गई पहल के कारण अंबरनाथ शहर को 3 नंबर प्राप्त हुआ है।

यह सफाई कर्मचारियों द्वारा दिन और रात काम करने वाले अधिकारियों और इस शहर के प्रत्येक नागरिक के साथ अंबरनाथ शहर को दिया जाने वाला राष्ट्रीय सम्मान है। स्वच्छता महाराष्ट्र के संत परंपरा की सेवा और संस्कार है। हम सभी एक स्वच्छ, सुंदर और स्वस्थ अंबरनाथ को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं क्योंकि कोरोना रोग का सामना करने के लिए स्वस्थ रहना अब उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि अब स्वच्छ रहना यह जानकारी अंबरनाथ नगर परिषद के मुख्याधिकारी डॉ प्रशांत रसाल ने दी।

अंबरनाथ में मिले ३९ कोरोना पॉजिटव, घट रहे एक्टिव मरीज   

- आंकड़ा ४५८५, स्वस्थ हुए ४१४८ मरीज, एक्टिव मरीज २६०                          

अंबरनाथ। अंबरनाथ शहर में हर रोज कोरोना संक्रमितों के मामलों में उतार चढाव देखा जा रहा है. लेकिन राहत की बात ये है कि बेहतर उपचार के चलते यहां एक्टिव मरीजों की संख्या में कमी देखी जा रही है. यानि रिकवरी रेट अच्छा है.  नपा से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को कोरोना के ३९ पॉजिटिव मरीज मिले हैं, जबकि मंगलवार को १८ और बुधवार को २६ पॉजिटिव मरीज मिले थे. गुरुवार को जो २६ मामले आये हैं उनमें १८ महिला और २१ पुरुष हैं. आंकड़ों को देखें तो अंबरनाथ पूर्व में २३ और पश्चिम में १६ मामले आये हैं. जबकि बीते २४ घंटे के दौरान २ मरीजों की मौत के बाद कोरोना की चपेट में आने से अबतक शहर में १७७ मरीजों की मौत हो चुकी है. वहीं अबतक कुल ४५८५ संक्रमितों में से ४१४८ मरीज स्वस्थ हुए हैं. जबकि २६० एक्टिव मरीजों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है. बता दें कि बुधवार तक ३११ एक्टिव मरीज थे.  बताया गया है कि अब तक ११८०३ लोगों के स्वेब कलेक्शन लिए गए हैं जिनमें ६२ लोगों के सैंपल टेस्ट का रिपोर्ट आना शेष है.

बदलापुर में मिले कोरोना के ६७ पॉजिटिव मरीज, रिकवरी रेट ९०.१६  प्रतिशत     

- आंकड़ा ३६७०, स्वस्थ हुए ३३०९ मरीज, एक्टिव मरीज २९६                   

बदलापुर। कुलगांव-बदलापुर नपा क्षेत्र में कोरोना पर अबतक कंट्रोल नहीं हो पा रहा है. आलम यह है कि हर रोज ५० से अधिक मामले सामने आ रहे हैं और कोरोना का प्रकोप बरकरार है. हालांकि बेहतर उपचार की वजह से रिकवरी रेट अच्छा है. इस बीच नपा द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि बीते २४ घंटे के दौरान ६७ लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जिनमें ३० महिला और ३७ पुरुषों का समावेश है. इस प्रकार ३६७० कोरोना बाधितों में से अभी २९६ लोगों का इलाज अलग-अलग अस्पतालों में चल रहा है. जबकि उपचार के पश्चात अबतक ३३०९ मरीज स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं. यानि स्वस्थ्य होने वाले मरीजों का प्रतिशत ९०.१६ है. वहीं बीते २४ घंटे में ३ मरीजों की मौत के बाद अबतक ६५ लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि शहर में १५५ लोग नपा के कवारंटीन में और ५०९१ लोग होम कवारंटीन में हैं. उधर नपा ने आजतक ५५२१ लोगों के स्वेब टेस्ट कराए हैं और इनमें ५५ लोगों के सैंपल टेस्ट का रिपोर्ट आना शेष है.
« PREV
NEXT »

कोई टिप्पणी नहीं

Facebook Comments APPID