BREAKING NEWS
featured

अंबरनाथ बदलापुर विशेष


(रिपोर्टर - संजय राजगुरु) 

अंबरनाथ में थम नहीं रहा कोरोना, मिले ४४ पॉजिटव मरीज  

आंकड़ा ४३५८, स्वस्थ हुए ३८५३ मरीज, एक्टिव मरीज ३३७                      

अंबरनाथ। अंबरनाथ शहर में कोरोना महामारी का प्रकोप थम नहीं रहा है. हर रोज आंकड़ों में उतार चढ़ाव देखा जा रहा है. नपा प्रशासन लगातार इस महामारी को कंट्रोल में करने की हर संभव कोशिश कर रही है. नपा से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को कोरोना के ४४ पॉजिटिव मरीज मिले हैं, जबकि मंगलवार को २९ पॉजिटिव मरीज मिले थे. बुधवार को जो ४४ मामले आये हैं उनमें १८  महिला और २६ पुरुष हैं. आंकड़ों को देखें तो अंबरनाथ पूर्व में ३६ और पश्चिम में ८  मामले आये हैं. जबकि कोरोना की चपेट में आने से अबतक शहर में १६८ मरीजों की मौत हो चुकी है. वहीं अबतक कुल ४३५८ संक्रमितों में से ३८५३ मरीज स्वस्थ हुए हैं. जबकि ३३७ एक्टिव मरीजों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है. बताया गया है कि अब तक १०७६७ लोगों के स्वेब कलेक्शन लिए गए हैं जिनमें १४१ लोगों के सैंपल टेस्ट का रिपोर्ट आना शेष है.

अंबरनाथ नपा के कर्मचारियों का वेतन रुका  

कर्मचारियों की व्यस्तता से वेतन में विलंब- प्रशासन 

अंबरनाथ। अंबरनाथ नगर परिषद के कर्मचारियों का वेतन महीने की एक तारीख को बैंक में जमा होती है। लेकिन जब बैंक में वेतन जमा नहीं हुआ तब कर्मचारियों के बीच खलबली मच गई. जब १२ दिन बीत गए तब कर्मचारियों ने नपा प्रशासन से इस ओर ध्यान देने का अनुरोध किया. जिसके बाद प्रशासन द्वारा कर्मचारियों को वेतन देने की प्रक्रिया शुरू की गई है. बता दें कि अंबरनाथ नपा के 800 से अधिक कर्मचारियों का वेतन रुका हुआ है। इस संदर्भ में प्रशासन का कहना है कि कोरोना के चलते स्थापना विभाग के कर्मचारियों की ड्यूटी लगी हुई जिसके चलते वे अपने विभाग में नहीं आये जिससे अकाउंट्स विभाग को वेतन जमा करने में दिक्क्त आई, परिणामस्वरूप वेतन रुक गया. हालाँकि १२ दिन बीत जाने के बावजूद अबतक कर्मचारियों को वेतन नहीं मिलने से उनके बीच खलबली मची हुई है. कोरोना जैसी भयानक महामारी से लड़ते हुए, कर्मचारी शहर के लिए भी उदारता से काम कर रहे हैं। नपा प्रशासन को यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता थी कि इन कर्मचारियों को ऐसी स्थिति में वित्तीय कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़े। उधर समय पर वेतन का भुगतान नहीं होने के कारण, कई कर्मचारियों की वित्तीय स्थिति खराब हो गई है। दूसरी ओर, कर्मचारियों के वेतन के साथ-साथ सेवानिवृत्त कर्मचारियों के पेंशन का भी समय पर भुगतान नहीं किया गया है. जो कर्मचारी पेंशन पा रह रहे हैं, उनको समय पर पेंशन का भुगतान नहीं होने से उनकी आर्थिक स्थिति खराब हो गई है. नपा प्रशासन ने  उनकी पेंशन दस दिनों के अंदर देने की बात कही है. दूसरी ओर, कर्मचारियों के वेतन के बारे में स्पष्टीकरण देते हुए, प्रशासन ने स्वीकार किया है कि नपा के अधिकांश कर्मचारी कोरोना की रोकथाम के लिए ड्यूटी पर हैं और उन्हें अपने कार्यालय का काम करने में देरी हुई है। हालांकि, यह स्पष्ट किया गया है कि सभी कर्मचारियों के वेतन को जल्द से जल्द उनके बैंक खाते में जमा कर दिया जायेगा.

बदलापुर में मिले कोरोना के ५७ पॉजिटिव मरीज    

आंकड़ा ३२१५, स्वस्थ हुए २८३६ मरीज, एक्टिव मरीज ३२३             

बदलापुर। कुलगांव-बदलापुर नपा क्षेत्र में कोरोना महामारी के आंकड़ों में उतार चढाव बरकरार है. मंगलवार को जो ३० नए मामले आये थे वहीं बुधवार को आंकड़ा बढ़कर ५७ पर पहुंच गया. इससे यही लग रहा है कि नपा प्रशासन द्वारा इस महामारी की रोकथाम के लिए किये जा रहे तमाम उपाय योजना कारगर साबित नहीं हो पा रहे हैं. हालांकि बेहतर उपचार के चलते रिकवरी रेट अच्छा है. नपा द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि बीते २४ घंटे के दौरान ५७ लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जिनमें २६ महिला और ३१ पुरुषों का समावेश है. इस प्रकार ३२१५ कोरोना बाधितों में से अभी ३२३ लोगों का इलाज अलग-अलग अस्पतालों में चल रहा है. जबकि उपचार के पश्चात अबतक २८३६ मरीज स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं. यानि स्वस्थ्य होने वाले मरीजों का प्रतिशत ८८.२१ है. जबकि बीते २४ घंटे के दौरान २ मरीज की मौत के बाद अबतक ५६ लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं शहर में १८० लोग नपा के कवारंटीन में और ४५०५ लोग होम कवारंटीन में हैं. जबकि नपा ने आजतक ४९७६ लोगों के स्वेब टेस्ट कराए हैं और इनमें १२६ लोगों के सैंपल टेस्ट का रिपोर्ट आना शेष है.
« PREV
NEXT »

कोई टिप्पणी नहीं

Facebook Comments APPID